22 फरवरी 2024 10:17 PM
Screen Reader Access
  • Decrease Text Size Normal Text SizeIncrease Text Size
  • Black Theme
  • Default Theme
  • Red Theme
  • Green Theme
  • Orange Theme
  • English
  • Hindi
Search
Search
  • Contact us
  • Tenders
  • Reach Us
  • Recruitment

हमारे बारे में

  • आई॰आई॰पी॰ का उन्नत कच्चा तेल अनुसंधान केंद्र (ए॰सी॰आर॰सी॰) – कच्चे तेल और इसके आसवन उत्पादों के विश्लेषण और मूल्यांकन के लिए समृद्ध ज्ञान, विशेषज्ञता और संसाधनो से सुसज्ज है ।
  • केंद्र में ए॰एस॰टी॰एम॰/आई॰पी॰/यू॰ओ॰पी॰/बी॰आई॰एस॰ मानकों के अनुरूप अत्याधुनिक विश्लेषणात्मक सुविधाएं हैं और इसने संस्थान के लिए कई प्रक्रम/उत्पादों के विकास और तकनीकी अनुसंधान में योगदान दिया है ।
  • ए॰सी॰आर॰सी॰ ने हाल के दिनों में विभिन्न अनुसंधान गतिविधियों के माध्यम से भी अपने कार्यक्षेत्र का विस्तार किया है, लेकिन कच्चे तेल का मूल्यांकन इसका मुख्य कार्य क्षेत्र है । संस्थान के उन्नत कच्चा तेल अनुसंधान केंद्र द्वारा विस्तृत हाइड्रोकार्बन विश्लेषण के रूप में प्रदान किए गए परिणामो का हाइड्रोकार्बन क्षेत्र में कच्चे तेल के मूल्य निर्धारण के लिए,कच्चे तेल के परिवहनमें, रिफाइनरियों द्वारा नए तेल की शोधन प्रक्रिया निर्धारण में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है ।
  • यह गर्व की बात है कि यह प्रयोगशाला अब तक पांच सौ से अधिक कच्चे तेलों का मूल्यांकन कर चुकी है । हाइड्रोकार्बन क्षेत्र के उपक्रमो का मुनाफा बढ़ाने में सहायता के उद्देश्य सेभी कई मूल्यवर्धन अध्ययन किए गए हैं ।
  • यह केंद्र कच्चे तेल के के साथ कंडेनसेट, औद्योगिक और ऑटोमोटिव स्नेहक, ईंधन तेल और जैव ईंधन के विश्लेषण में भी सहायक रहा है । हाल ही में रणनीतिक ईंधन के विकास की अनुसंधान एवं विकास परियोजना में सहभागिता के साथ साथ एच॰एस॰डी॰, मिट्टी के तेल और एम॰एस॰ के स्टॉक लॉस के अध्यन की परियोजना को सफलतापूर्वक पूरा किया गया है ।
  • वर्तमान मेंअत्यधिक मोम वाले एवं भारी कच्चे तेल से जुड़ी समस्याओं का समाधान करने के लिए शोध कार्य चल रहा है। ए॰सी॰आर॰सी॰, आई॰आई॰पी॰ द्वारा आयोजित अधिकांश प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भी सक्रिय योगदान दे रहा है।


No wpWBot Theme Found!

X
wpChatIcon